तीन तलाक मामले पर मीडिया का ध्यान कहीं ज़रूरत से ज़्यादा तो नहीं है?

तीन तलाक मामले पर मीडिया का ध्यान कहीं ज़रूरत से ज़्यादा तो नहीं है?

शाम में फुरसत के वक्त आप टीवी चालू करके बैठ जाइए, बहुत मुमकिन है आपको किसी न किसी मीडिया चैनल पर ट्रिपल तलाक के मामले पर गर्मा गर्म बहस चलती हुई मिल जाए। लेकिन आपने कभी गौर किया कि क्या समस्या वाकई इतनी बड़ी है कि उस पर घंटों बहस की जाए? प्राइम टाइम्स चलाए जाएँ? क्या देश में इससे और अधिक गम्भीर समस्याएँ नहीं हैं, जिन पर वाद-विवाद हो सकता है? Continue reading तीन तलाक मामले पर मीडिया का ध्यान कहीं ज़रूरत से ज़्यादा तो नहीं है?

स्वरा का वायरल सच: न्यूडिटी के बहाने दर्शकों को लुभाने की कोशिश या कुछ और?

स्वरा का वायरल सच: न्यूडिटी के बहाने दर्शकों को लुभाने की कोशिश या कुछ और?

अनारकली की रोल अदा कर रही स्वरा भास्कर की न्यूड तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है. चारों और चर्चा जोरो पर है कि नंगी तस्वीर, सेक्सी तस्वीर और भी जाने क्या-क्या. Continue reading स्वरा का वायरल सच: न्यूडिटी के बहाने दर्शकों को लुभाने की कोशिश या कुछ और?

एक कवि के साथ कुछ नहीं हुआ, बस उसकी नाक से निकलता खून जम गया है

एक कवि के साथ कुछ नहीं हुआ, बस उसकी नाक से निकलता खून जम गया है

इस वीडियो में ख़ौफ़नाक कुछ भी नहीं है. बस उनकी नाक से निकलता खून जम गया है. एक कवि के साथ हुई बर्बरता पर कटाक्ष कर रहे हैं प्रियदर्शन Continue reading एक कवि के साथ कुछ नहीं हुआ, बस उसकी नाक से निकलता खून जम गया है

बस्तर के ‘ढोलकल’ से  वायरल हो रही है एक अपील,जानिए क्यों?

बस्तर के ‘ढोलकल’ से वायरल हो रही है एक अपील,जानिए क्यों?

इस अपील में लिखा है कि ‘’ढोलकल – बस्तर के इतिहास की योजनाबद्ध हत्या हो रही है…जानिए क्यों ऐसा लिखा गया है? Continue reading बस्तर के ‘ढोलकल’ से वायरल हो रही है एक अपील,जानिए क्यों?

सूचना पाने के संदर्भ में  कितनी कारगर हैं सोशल साइट्स?

सूचना पाने के संदर्भ में कितनी कारगर हैं सोशल साइट्स?

दो पुरानी कहावतें हैं…पहला कि दुनिया को जिस नज़र से देखोगे ठीक वैसी ही दिखेगी, और दुसरा वस्तुओं को जिस तरह प्रयोग करोगे ठीक वैसी ही फल देगा, प्रकृति का यही नियम भी है।  ये सारी बातें सोशल मीडिया के संदर्भ में भी लागू होती है।

सोशल मीडिया या सामाजिक मीडिया (हिन्दी अर्थ), ये शब्द आजकल  पुरे विश्व में काफी प्रचलन में है, और हो भी क्यूँ ना ?  दुनिया की 50% जनसंख्या 30 के नीचे है, और धरा की सबसे अधिक युवाशक्ति भारतवर्ष में ही तो निवास करती है, जो ईन साईट्स में काफी दिलचस्पी रखती है।

Continue reading “सूचना पाने के संदर्भ में कितनी कारगर हैं सोशल साइट्स?”