बधाई हो,भारत की 196 भाषाएँ अपना दम तोड़ रहीं हैं

बधाई हो,भारत की 196 भाषाएँ अपना दम तोड़ रहीं हैं

कितनी विडम्बना की बात है कि जिस देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी मातृभाषाओं के हिमायती रहे उसी देश में अपनी मातृभाषाओं को बचाने के लिए लोगों को आंदोलन या प्रदर्शन का रास्ता अख्तियार करना पड़ रहा है. Continue reading बधाई हो,भारत की 196 भाषाएँ अपना दम तोड़ रहीं हैं

Advertisements