सप्ताह की सात बड़ी ख़बरें जो आपके लिए ज़रूरी हैं

 जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त

trainaccident74543

आंध्रप्रदेश के विजयनगरम जिले में 21 जनवरी को देर रात जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराकुंड एक्सप्रेस पटरी से उतर गई ,इस घटना में मरने वालों की संख्या 39 से ज्यादा बताई गई साथ ही इसमें 115 लोग घायल हुए. शनिवार रात जगदलपुर से भुवनेश्‍वर जा रही ट्रेन की कुनेरू स्टेशन के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई.

ट्रेन में 22 कोच थे जिनमें से हादसे के दौरान कम से कम नौ डिब्‍बों को क्षति पहुंची. मृतकों में से ज्यादातर लोग छत्तीसगढ़ और ओडिशा से हैं.

जलीकट्टू बिल विधानसभा में पास

jalikattu-tamil-nadu-ll

तमिलनाडु में जल्लीकट्टू को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच राज्य विधानसभा इस पर संशोधन विधेयक सर्वसम्मति से पारित कर दिया.जिससे अब बिना किसी रोकटोक के यह आयोजन होता रहेगा. जल्लीकट्टू की अनुमति देने के लिए दो दिन पहले जारी अध्यादेश की जगह लेने वाले पशुओं के साथ क्रूरता रोधी कानून, 1960 में संशोधन संबंधी इस विधेयक को सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया. सभी पार्टियों के विधायकों ने इस कानूनी पहल का स्वागत किया.इस विधेयक को मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम द्वारा पेश किया गया और ध्वनिमत से इसे पारित कर दिया गया.

  1 फरवरी को ही पेश होगा आम बजट%e0%a4%86%e0%a4%ae-%e0%a4%ac%e0%a4%9c%e0%a4%9f

नए वित्त वर्ष 2017-18 के लिए मोदी सरकार 1 फरवरी को ही आम बजट पेश करेगी.सर्वोच्च न्यायालय ने आम बजट पेश करने की तारीख टालने के लिए दायर की गई याचिका को सोमवार को खारिज कर दी.

केंद्र सरकार का दूसरा बजट पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले फरवरी में पेश होगा. पांच राज्यों में चुनाव का हवाला देकर फरवरी में बजट पेश करने से रोकने की गुहार लगाई गई थी. अब केंद्र सरकार 1 फरवरी को बजट पेश करने के लिए स्वतंत्र है.

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि ‘1 फरवरी को बजट पेश किए जाने से राज्यों के चुनावों पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा.’ कोर्ट ने उस तर्क को नहीं माना कि ‘इसे चुनाव में फायदे के लिए तय समय से पेश किया जा रहा है.’

केंद्र सरकार ने फरवरी में बजट पेश करने की सारी तैयारियां कर ली हैं.

 मेघालय के राज्यपाल का इस्तीफाxvshanmuganathan

यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद मेघालय के राज्यपाल वी. षणमुगनाथन ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.षणमुगनाथन ने अपना इस्तीफ़ा राष्ट्रपति को भेज दिया है.

67 वर्षीय षणमुगनाथन ने 20 मई 2015 को मेघालय के राज्यपाल का पद संभाला था.

13 सितंबर 2016 से उनके पास अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल का भी अतिरिक्त कार्यभार था.

बुधवार को शिलांग में राजभवन में काम करनेवाले करीब 80 कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री कार्यालय, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और गृह मंत्रालय को एक चिट्ठी लिखकर राज्यपाल को तत्काल हटाने की मांग की थी.

कर्मचारियों का आरोप था कि  “गंभीर रूप से राजभवन की प्रतिष्ठा की अनदेखी” की गई है और इसे एक “यंग लेडीज़ क्लब” में बना दिया गया है जिससे राजभवन के कर्मचारियों को “मानसिक तनाव और तकलीफ़” हुई है.

ट्रंप ने दिया आतंकवादियों की कठोर जाँचका आदेशdonald-trump

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अमरीका आनेवाले आप्रवासियों की कठोर जाँच किए जाने के आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं.अमरीकी रक्षा विभाग पेंटागन में जेनरल जेम्स मैटिस को रक्षा मंत्री बनाए जाने के शपथ समारोह के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने इसकी घोषणा की.

उन्होंने कहा कि “मैं कट्टर इस्लामी आतंकवादियों को अमरीका से दूर रखने के लिए नए जाँच उपाय ला रहा हूँ. हम उन्हीं लोगों को अपने देश आने देंगे जो हमारे देश को सहयोग देंगे और हमारे लोगों को प्यार करेंगे.”

हालाँकि उन्होंने ये स्पष्ट नहीं किया कि इस अत्यंत सख़्त जाँच में क्या होगा.

बेला भाटिया को पूरी सुरक्षा का वादाbela

छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ अधिकारियों ने आज सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया से मुलाकात कर उन्हें पूरी तरह सुरक्षा प्रदान करने का भरोसा दिलाया. राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बुधवार को यहां बताया कि गृह विभाग के प्रमुख सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम, नक्सल मामलों के विशेष पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी और बस्तर जिले के पुलिस अधीक्षक आरएन दास ने आज सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया से मुलाकात की.

भाटिया से कहा गया कि देश में सभी नागरिकों को कहीं भी सुरक्षित निवास करने का अधिकार है. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर जिले में इस महीने की 23 तारीख को ग्रामीणों ने सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया पर नक्सली समर्थक होने का आरोप लगाया था और उसके घर के सामने प्रदर्शन किया था.

 गणतंत्र दिवस रहा कुछ खासrepublic-day

68वें गणतंत्र दिवस के मौके पर कई चीजें पहली बार हुई हैं. जैसे यूएई का दस्ता पहली बार परेड का हिस्सा बना. यूएई से परेड में हिस्सा लेने के लिए 144 जवान आए थे. पिछले साल फ्रांस की आर्मी ने परेड में हिस्सा लिया था. इसके साथ देसी धनुष तोप पहली बार यहां दिखी. जबलपुर की गन कैरिज फैक्टरी द्वारा निर्मित 155 मिमी की इस तोप की लागत 14.50 करोड़ रुपये है. यह भारत द्वारा 1980 के दशक में खरीदे गए बोफोर्स तोपों का उन्नत रूप है. टी-90 भीष्म टैंकों, इंफैंटरी कॉम्बैट व्हीकल बीएमपी -2के, वेपन लोकेटिंग रडार स्वाति, सीबीआरएन रीकान्सन्स व्हीकल को भी परेड में शामिल किया गया.वहीं नेशनल सिक्योरिटी गार्ड यानी एनएसजी पहली बार परेड का हिस्सा बने. इससे पहले एनएसजी रिपब्लिक डे की सुरक्षा का हिस्सा थे.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s